Vaidik rashtra (मासिक पत्रिका)

ओ३म् क्या संसार महर्षि दयानन्द की मानव कल्याण की यथार्थ भावनाओं को समझसका? ’ महर्षि दयानन्द (1825-1883) ने देश व समाज सहित विश्व की सर्वांगीण उन्नति का धार्मिक व सामाजिक कार्य किया है। क्या हमारे देश और संसार के लोग उनके कार्यों को यथार्थ रूप में जानते व समझते हैं? क्या उनके कार्यों से मनुष्यों …